December 2, 2022 5:11 AM

English English Hindi Hindi Marathi Marathi
December 2, 2022 5:11 am
English English Hindi Hindi Marathi Marathi

मातृशक्ति एवं छात्राओं को पुलिस क्षेत्राधिकारी कोंच ने सुरक्षा के प्रति किया जागरूक

साहस, धैर्य और आत्मविश्वास के साथ मुकाबला करें अराजक तत्वों का- पुलिस क्षेत्राधिकारी कोंच।
पुलिस क्षेत्राधिकारी ने छात्राओं के साथ संवाद स्थापित कर जागरूक किया, कोतवाल ने बताए हेल्पलाइन नंम्बर।
कोंच जालौन ंंं  पुलिस क्षेत्राधिकारी शैलेंद्र कुमार वाजपेयी ने स्कूली छात्राओं के साथ संवाद स्थापित कर उन्हें बताया कि पुलिस हमेशा उनकी मदद के लिए तत्पर है। किसी भी कठिन परिस्थिति में डरने या घबराने से काम नहीं चलने वाला बल्कि साहस धैर्य और आत्मविश्वास के साथ अराजक तत्वों से मुकाबला करने की जरूरत है। उन्होंने छात्राओं को महिला सुरक्षा के विभिन्न कानूनों की जानकारी देते हुए उनकी मदद से खुद को सुरक्षित बनाने का आह्वान किया।
यहां कमला नेहरू बालिका इंटर कॉलेज में महिला सशक्तिकरण अभियान के तहत आयोजित कार्यक्रम में पुलिस क्षेत्राधिकारी शैलेंद्र कुमार वाजपेयी ने कहा कि युवतियों और महिलाओं को मुसीबत के समय धैर्य नहीं छोड़ना चाहिए। वह पूरे आत्मविश्वास और साहस से अराजक तत्वों का डटकर मुकाबला करें। किसी भी मुसीबत में वह बिना किसी संकोच के पुलिस की मदद लें। छोटी छोटी बातों को भी नजरंदाज न करें क्योंकि इससे उन लोगों जो आपके साथ गलत चेष्टा कर रहे हैं, के हौसले बढ़ते हैं और आगे चलकर छोटी सी बात बड़ा रूप ले सकती है। उन्होंने कहा, किसी भी अस्वाभाविक घटना को परिजनों या शुभचिंतकों के साथ जरूर साझा करें। उन्होंने बच्चियों को महिला शक्तिकरण, साईबर क्राइम, एंटी रोमियो, यातायात नियम के बारे में भी बताया। उन्होंने बताया कि हर थाने में महिलाओं के लिए महिला हेल्प डेस्क खोली गई है जिसमें महिलाएं अपनी पूरी बात महिला सिपाही को कह सकती हैं। उन्होंने कहा फोन का भी प्रयोग करें तो आप लोग अच्छी चीजों के लिए करें, आजकल फर्जीवाड़े के मामले अधिक सुनने में आ रहे हैं। फोन पर किसी को गोपनीय जानकारी कतई न दें। कोंच कोतवाल बलिराज शाही ने कहा पुलिस हेल्पलाइन यूपी 112 और महिला हेल्पलाइन 1090 नंबर पर सीधे कॉल करें, पुलिस तत्काल मदद के लिए पहुंचेगी। उन्होंने छात्राओं को बगैर किसी संकोच के पुलिस को सूचना देने का आह्वान किया। उन्होंने हाा कि सूचना देने वाले की पहचान व पता गुप्त रखा जाता है। उन्होंने कहा कि किसी भी बच्ची को घर से स्कूल आते जाते कोई भी परेशानी हो तो तुरंत बताएं। अपने घर के अभिभावकों को वाहन चलाते समय हेलमेट जरूर पहनने की जिद करें, यह उनके लिए सुरक्षा कवच का काम करता है। स्कूल की प्रधानाचार्य कुंती निरजंन ने छात्राओं से कहा कि विद्यालय की ड्रेस पहन कर स्कूल आएं और छुट्टी होने पर सीधे घर जाएं। ड्रेस पहिन कर सार्वजनिक स्थानों पर मत जाएं। संचालन डॉ. मृदुल दांतरे ने किया

Leave a Comment

What does "money" mean to you?
  • Add your answer
[adsforwp id="47"]